Counter

Sunday, June 08, 2014

Sthapna Sewak Sanjaynath Dusmahavidhya Patna Mandir - 8th June 2014

जगतगुरू वामाचार्या सेवक संजयनाथ जी ने हज़ारो भक्तो के बीच गंगा दशहरा के शुभ अवसर पर 12 घंटे का अखंड रुद्राभिषेक, हवन और प्रार्थना किया, की माँ गंगा का पानी स्वच्छ हो एवम भारत से गौ हत्या बंद हो|
इस अवसर पर बिहार विधानसभा पार्षद,संजय मयुख और कुछ प्रमुख लोग जैसे आर. के वर्मा, संत शरण, राम कुमार झा, रविंदर सिंग, बी एन दास, आलोक, रंजन,चंदेश्वर प्रसाद, बिहार गुरुनाथ अखाड़ा के मंडेलेश्वर, सभापति,रामसेवक बाबा एवम मूर्तिनाथ बाबा के साथ हज़ारो साधु और भक्त भी उपस्थित थे|
सभी भक्तो ने गौ माता की रक्षा करने का और माँ गंगा को निर्मल बनाने का स्वयं संकल्प लिया.
कल प्रातः से मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम शुरू होगा.


Tuesday, January 15, 2013

छठ घाट के जीर्णोद्धार को समिति गठित

रक्सौल, निज प्रतिनिधि : नगर परिषद क्षेत्र के वार्ड नंबर 9 गांधी नगर के प्रबुद्ध नागरिकों की बैठक काली मंदिर के प्रांगण में बुधवार की संध्या हुई, जिसकी अध्यक्षता पार्षद पति नुरूल्लाह खान ने की। इस दौरान स्व. डा. हरेन्द्र प्रसाद वर्मा छठिया घाट जीर्णोद्धार के लिए एक कमेटी का गठन किया गया, जिसमें सर्वसम्मति से पशुपति प्रसाद गुप्ता को अध्यक्ष, रामअयोध्या प्रसाद साह को उपाध्यक्ष, राकेश कुमार सर्राफ को सचिव, विजय कुमार वर्मा को उप सचिव, कृष्णा प्रसाद साह को कोषाध्यक्ष, कमरूल हक आजाद को उप कोषाध्यक्ष समेत अन्य पदों पर विभिन्न लोगों का चयन किया गया। वहीं बैठक के उपरांत सेवक संजयनाथ की ओर से गांधी नगर में मंदिर द्वार एवं विवाह भवन बनवाने की घोषणा की गयी।

वंदे मातरम् कहनेवाले को साम्प्रदायिक कहना अपमान

-- विश्व हिन्दू परिषद का दो दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग प्रारंभ
मोतिहारी, जागरण प्रतिनिधि : जगतगरु वामाचार्य व रक्सौल के प्रसिद्ध काली मंदिर के सेवक संजयनाथ ने हिन्दुओं का आह्वान किया है कि जिस प्रकार इस समाज पर चारों ओर से हमले किए जा रहे हैं वैसे ही अपने हितों की रक्षा के लिए उसे भी जैसे को तैसे की तर्ज पर जवाब देने को कोशिश करनी होगी। वे शनिवार को गौरीशंकर मध्य विद्यालय में विश्व हिन्दू परिषद के दो दिवसीय चम्पारण विभाग के प्रशिक्षण शिविर का उद्घाटन करने के बाद समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मौजूदा दौर हिन्दू समाज के लिए संक्रमण काल है इसलिए ऐसे में संगठित होना परम आवश्यक है। सेवक संजयनाथ ने कहा कि विश्व हिन्दू परिषद पूरे विश्व का सबसे बड़ा हिन्दू संगठन है। वहीं मुख्य वक्ता विहिप के क्षेत्रीय संगठन मंत्री रासबिहारी ने कहा कि विश्व हिन्दू परिषद व बजरंग दल हमेशा भारतीय सभ्यता-संस्कृति और हिन्दू हितों के लिए लड़ने को तैयार है। उन्होंने तथाकथित धर्मनिरपेक्षता की चादर ओढे़ राजनेताओं को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि भारत में वंदे मातरम् व भारत माता की जय कहनेवाले को साम्प्रदायिक कहा जाता है, जो एक तरह से महापुरुषों का अपमान है। देश की आजादी की लड़ाई में कई वीर सपूत भारत माता की जय व वंदे मातरम् का जयघोष कर फांसी के फंदे को चूम लिया और आज आजाद भारत में भी इस प्राणवाक्य को साम्प्रदायिक बताया जा रहा। विहिप इसी बात का घोर विरोधी है। वहीं सरकारी अधिवक्ता नर्मदेश्वर प्रसाद ललित व राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के डा. राजेश श्रीवास्तव ने कहा कि आजकल हिन्दुओं पर हर प्रकार से हमले हो रहे हैं, जो देश के हित में नहीं है। समारोह का संचालन विहिप के प्रदेश सहमंत्री अधिवक्ता अशोक कुमार ने किया। वहीं कार्यक्रम में नगर परिषद की पूर्व उपसभापति राजकुमारी गुप्ता, एमएस कॉलेज में इतिहास के विभागाध्यक्ष डा. अजय शंकर वर्मा, सत्यम कुमार, हरिश्चंद्र उपाध्याय आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

ईश्वर की पूजा से मिलती है शक्ति : संजय नाथ

जागरण प्रतिनिधि, मोतिहारी : योग मित्र मंडल के तत्वावधान में बनकट में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए वामाचार्य के सेवक संजय नाथ ने कहा कि हर घर में देवी व देवता की पूजा की जाती है। पूजा से मानव को शक्ति मिलती है। इस मौके पर 21 गरीब व असहाय लोगों के बीच छोटा गैस चूल्हा का वितरण किया गया। साथ ही वार्ड दस के पांच बच्चों के इंटर से आगे तक की शिक्षा में सहयोग का आश्वासन दिया गया। कार्यक्रम के प्रारंभ में डीएवी की संगीत शिक्षिका अल्पना रतन ने मंगलाचरण व भक्ति गीतों की प्रस्तुति की। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रो. शोभाकांत चौधरी व संचालन डा. अरुण कुमार ने किया। कार्यक्रम को संबोधित करने वालों में ज्ञान प्रकाश शर्मा व चैतन्यमूर्ति प्रमुख थे।

Saturday, December 22, 2012

वृद्धाश्रम की भूमि अधिग्रहण की, तो होगा आंदोलन

रक्सौल, अनुमंडल प्रतिनिधि : शहर के काली नगरी में शुक्रवार को गुरूनाथ अखाड़ा की कोर कमेटी की बैठक सेवक संजयनाथ की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में ग्राम कनना, थाना 21, अंचल रक्सौल में स्थित वृद्धाश्रम की भूमि का एडीएम, अनुमंडल पदाधिकारी व अंचलाधिकारी द्वारा संयुक्त रूप से स्थल निरीक्षण किए जाने पर चर्चा की गई। बैठक में श्री नाथ ने कहा कि इस जमीन को आयुक्त तिरहुत प्रमंडल मुजफ्फरपुर द्वारा पत्रांक रा 336, 23/08 ज्ञापांक 2604/2 एफ दिनांक एक सितंबर 2011 द्वारा धार्मिक विवाद के कारण भू अर्जन से मुक्त करने का आदेश पारित है। इसके बावजूद अधिकारियों ने आदेश को दरकिनार करते हुए बीते 20 दिसंबर को उक्त भूमि का निरीक्षण किया। बैठक में एक स्वर से निर्णय लिया गया कि अगर प्रशासन वृद्धाश्रम की भूमि को पावरग्रिड का निर्माण के लिए अधिग्रहण करता है, तो इसे साधु-संत बर्दाश्त नही करेंगे। साथ ही कहा गया कि पावरग्रिड के दक्षिणी भाग में एक बड़ा हिस्सा पड़ा है, उसे सरकार क्यों नहीं अधिग्रहण करने की योजना बना रही है। वहीं अखाड़ा के सभापति सेवक मुक्तिनाथ बाबा ने कहा कि उक्त जमीन पर अगर प्रशासन द्वारा कोई भी कार्य कराया गया, तो साधु-संतों द्वारा प्रशासन के विरूद्ध आंदोलन होगा। बैठक में सेवक लोकेशनाथ, जगतनाथ, बुद्धराम नाथ, रवीन्द्र बाबा, सोमनाथ बाबा, मनीष पाठक, योगेन्द्र जी, विनोद यादव, चंद्रशेखर भारती आदि मौजूद थे।